Home » Biography » अटल बिहारी वाजपयी की जीवनी | Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi

अटल बिहारी वाजपयी की जीवनी | Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi

अटल बिहारी वाजपयी की जीवनी | Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi | Atal Bihari Vajpayee in Hindi | Atal Bihari Vajpayee Family | Atal Bihari Vajpayee Awards | Atal Bihari Vajpayee Books

Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi – अटल बिहारी जी एक बहुत ही जाने माने महानपुरुष थे। इन्होने भारतीय राजनीति के इतिहास में अपनी छाप छोड़ी है। 50 वर्ष की उम्र लगा देते है आज के लोग अपने आप को राजनीति में स्थापित करने में लेकिन अटल जी ने 50 साल राजनीति की है। उन्होंने एक पार्टी का निर्माण किया और उसे 2 से 200 तक के आंकड़े पर पहुंचाया था। अटल जी ने बिखरी हुई पार्टी को एकजुट करके और जनता का समर्थन लेकर पार्टी को फिर आसमान में पहुंचाने का काम किया है। अटल जी ने लोकतंत्र में अपनी विजय की कहानी खुद लिखी है।

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसम्बर 1924 को ग्वालियर में हुआ था। उनके पिता का नाम कृष्णा बिहारी वाजपेयी और माता का नाम कृष्णा देवी था। अटल जी के पिता अपने गांव के ही महान कवी और एक स्कूलमास्टर थे। अटल बिहारी जी ने ग्वालियर के गवर्नमेंट हायरसेकण्ड्री स्कूल से शिक्षा प्राप्त की है। स्कूल की शिक्षा के बाद वो शिक्षा प्राप्त करने ग्वालियर विक्टोरिया कॉलेज में गए।

Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi | Atal Bihari Vajpayee in Hindi

ग्वालियर के आर्य कुमार सभा से अटल जी ने अपने राजनैतिक कार्य शुरू किये थे। अटल जी उस समय आर्य समाज के युवा शक्ति माने जाते थे। 1939 में उन्होंने राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को ज्वाइन कर लिया था। 1947 में अटल जी आरएसएस के फुल टाइम वर्कर बन गये थे। 1951 में दीन दयाल उपाध्याय के साथ मिलकर RSS ने हिन्दू राजीनीतिक पार्टी “भारतीय जनता संघ ” का निर्माण किया था। इस पार्टी में उनको उत्तरी प्रभाग का राष्टीय सचिव चुना गया था। इसके बाद अटल जी कश्मीर से जुडी समस्या में भूख हड़ताल में जेल गये।

वर्ष 1968 में दीन दयाल उपाध्याय की मौत हो गयी इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी को संघ का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया था। इसके बाद अटल जी ने जन संघ पार्टी को को जनता पार्टी में मिला दिया। इसके बाद हुए चुनाव में जनता पार्टी की पहली जीत हुई थी। अटल बिहारी जी को मोरारजी देसाई के कैबिनेट में विदेश मंत्री बनाया गया। अटल जी पहली बार सयुक्त राष्ट्र संघ में हिंदी में भाषण देने वाले पहले मंत्री बने थे।
इस समय वो एक सम्मानित राजनेता के रूप में प्रसिद्ध हो चुके थे।

Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi | Atal Bihari Vajpayee in Hindi

कुछ समय बाद ही मोरारजी देसाई ने पार्टी से इस्तीफ़ा दे दिया इसके बाद से जनता पार्टी धीरे धीरे ख़त्म होने लगी थी और इसका फायदा जन संघ ने उठाया। अटल जी और उनके RSS के मित्रो ने मिलकर एक 1980 में भारतीय जनता पार्टी का निर्माण किया। भारतीय जनता पार्टी के अटल जी पहले अध्यक्ष बने थे। 1984 के चुनावो में उनको 2 सीटे मिली और वाजपयी भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख नेता बनकर उभरे

1995 में BJP गुजरात और महाराष्ट्र विधानसभा चुनावो में बहुत बड़ी जीत हासिल की और इसके बाद BJP भारत देश में एक बड़ी पार्टी बन कर सामने आयी। 1996 के लोकसभा चुनावो में भी बीजेपी ने जीत हासिल की और इसके बाद अटल बिहारी वाजपेयी को प्रधान मंत्री बनाया gya। पहली बार 1996 में भारत का 10वा प्रधानमंत्री चुना गया था। लेकिन पूर्ण बहुमत न होने के कारण सिर्फ 13 दिनों के बाद उन्होंने इस्तीफ़ा दे दिया। अटल बिहारी जी के कार्यकाल में ही ऑपरेशन शक्ति ” चलाया जिसमे पोखरन में परमाणु बम परीक्षण किया गया। सीके अलावा भी उन्होंने बहुत ही अच्छे कार्य किये थे। 1999 के चुनावो में BJP को 543 में से 303 सीट मिली और इस बार उन्होंने पूर्ण बहुमत से सरकार बनाई। इस समय अटल जी देश के तीसरी बार प्रधानमंत्री बने।

Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi | Atal Bihari Vajpayee in Hindi

2005 में Atal Bihari Vajpayee अटल बिहारी वाजपयी ने उन्होंने राजनीति से संन्यास ले लिया था। अटल जी उनकी किताबो और कविताओं की वजह से भी जाना जाता है। 25 दिसम्बर 2014 को राष्ट्रपति कार्यालय में अटल बिहारी वाजपेयी जी को भारत का सर्वोच्च पुरस्कार “भारत रत्न” दिया गया। इस रतन को देने प्रणब मुखर्जी खुद 27 मार्च 2015 को उनके घर गए थे। अटल जी के जन्मदिन को गुड गवर्नेंस डे” के रूप में मनाया जाता है।

वर्ष 2009 ने उनकी तबयत खराब होती चली गयी। 11 जून 2018 को उन्हें अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था। 16 अगस्त 2018 को हम सभी को छोड़ कर परलोक सिधार गए। भारत के लोगो ने इस दिन एक महान पुरुष के साथ अपने प्रिय राजनेता को भी खो दिया। लेकिन आज भी वो हम सभी के दिलो में बस्ते है ।

Atal Bihari Vajpayee Biography in Hindi | Atal Bihari Vajpayee in Hindi

Atal Bihari Vajpayee Family – अटल जी ने पुरे जीवन शादी नहीं की थी। लेकिन उन्होंने एक बच्ची नमिता भट्टाचार्य को गोद लिया था

अटल बिहारी वाजपेयी के अवार्ड – Atal Bihari Vajpayee Awards

  • 1992 : पद्म विभूषण
  • 1993 : डी.लिट (डॉक्टरेट इन लिटरेचर), कानपूर यूनिवर्सिटी
  • 1994 : लोकमान्य तिलक पुरस्कार
  • 1994 : बेस्ट संसद व्यक्ति का पुरस्कार
  • 1994 : भारत रत्न पंडित गोविन्द वल्लभ पन्त अवार्ड
  • 2015 : भारत रत्न
  • 2015 : लिबरेशन वॉर अवार्ड (बांग्लादेश मुक्तिजुद्धो संमनोना)

अटल बिहारी वाजपेयी के बुक्स – Atal Bihari Vajpayee Books

  • अटल बिहारी वाज मेम टीना दसका (1992)
  • प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी : चुने हुए भाषण (2000)
  • वैल्यू, विज़न & वर्सेज ऑफ़ वाजपेयी : इंडिया मैन ऑफ़ डेस्टिनी (2001)
  • इंडिया’स फॉरेन पालिसी : न्यू डायमेंशन (1977)
  • असाम समस्या (1981)

Read Also:

Facebook Comments

DekhChote

हिंदी जीके, करंट अफेयर्स, ट्रिक्स की लेटेस्ट Updates Emails पर पाने के लिए सब्सक्राइब करे

Follow DekhChote

dekhchote study dekhchote study

dekhchote study

dekhchote study

error: Content is protected !!