Home » Biography » ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की जीवनी | A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi

ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की जीवनी | A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi

ए.पी.जे. अब्दुल कलाम की जीवनी | A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi | A.P.J Abdul Kalam in Hindi

A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi – एपीजे अब्दुल कलाम एक महानपुरुष है। अब्दुल कलाम का पूरा नाम अबुल पाकिर जैनुलब्दीन अब्दुल कलाम है। इनका जन्म तमिलनाडु के रामेश्वरम में हुआ था। इनको मिसाइल मैन के नाम से जाना जाता है। अब्दुल कलाम के पिता का नाम जैनुलब्दीन तथा माँ का नाम आशियम्मा था। अब्दुल कलाम के 11वे निर्वाचित राष्ट्रपति थे। इनको जाने माने वैज्ञानिक और अभियंता के तौर पर जाना जाता है। वो एक गरीब मुस्लिम परिवार से थे इसके बावजूद भी उन्होंने सर्वोच्च पद हासिल किया था।

बचपन में अपनी पढाई के साथ साथ वो अखबार भी बाटते थे। स्कूल की शिक्षा पूरी होने के बाद तिरुचिरापल्ली के सेंट जोसेफ कॉलेज में दाखिला लिया। 1955 में उन्होंने मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से अन्तरिक्ष विज्ञान में डिग्री प्राप्त की थी। कुछ समय बाद ही उन्होंने भारतीय रक्षा अनुसन्धान एवं विकास संस्थान (DRDO) में मुख्य वैज्ञानिक के रूप में प्रवेश किया। वर्ष 1962 में उन्होने भारत का पहला स्वदेशी उपग्रह (SLV III) प्रक्षेपास्त्र बनाया था।

A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi | A.P.J Abdul Kalam in Hindi

इसी तरह वो एक के बाद एक उपलब्धि प्राप्त करते चले गए। जुलाई 1980 में रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा में प्रवेश करवा के स्थापित किया। अब्दुल कलम जी ने अग्नि एवं पृथ्वी जैसी मिसाइल को स्वदेशी तकनीक से बनाया था। वर्ष 1992-99 तक वे रक्षामंत्री के सलाहकार तथा सुरक्षा ,शोध और विकास विभाग के सचिव के पद पर रहे थे। इसके बाद अब्दुल कलम जी की रेख देख में 1998 में पोखरन में अपना दूसरा परमाणु परीक्षण किया और इसमें सफलता पायी। इस प्रकार परमाणु सम्पन्न राष्ट्रों के सूची में भारत को शामिल किया।

A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi

अब्दुल कलम जी को जन जन का राष्ट्रपति कहा जाता था। वो वैज्ञानिक व राष्ट्रपति होने के साथ वे एक संवेदनशील लेखक भी थे। उन्होने बहुत सी किताबे भी लिखी थी। उनकी एक आत्मकथा Wings of Fire युवाओं को प्रेरित करती है। अब्दुल कलम जी हमेशा देश के युवाओ को उनके भविष्य बेहतर बनाने के बारे में बाते करते थे।

A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi | A.P.J Abdul Kalam in Hindi

सभी के लोकप्रिय अब्दुल कलम जी की मृत्यु 27 जुलाई 2015 को भारतीय प्रबंधन संस्थान, शिल्लोंग, में अध्यापन कार्य के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुई थी और उस दिन देश और देश के सभी लोगो ने अपने लोकप्रिय डॉ अब्दुल कलम जी हमेशा के लिए खो दिया था। लेकिन वो आज भी सभी लोगो के दिल में बस्ते है। अब्दुल कलम जी आखिरी इच्छा थी कि उनकी निधन पर कोई भी अवकाश नहीं हो। उस दिन सभी लोग अपने काम पर जाए। इसलिए पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलम जी के निधन के दिन कोई भी अवकाश नहीं होता।

A.P.J Abdul Kalam Biography in Hindi | A.P.J Abdul Kalam in Hindi

अब्दुल कलम पुरस्कार और सम्मान | A.P.J Abdul Kalam Awards and Honours

वर्ष सम्मान संगठन
2014 डॉक्टर ऑफ साइंस एडिनबर्ग विश्वविद्यालय , ब्रिटेन
2012 डॉक्टर ऑफ़ लॉ ( मानद ) साइमन फ्रेजर विश्वविद्यालय
2011 आईईईई मानद सदस्यता आईईईई
2010 डॉक्टर ऑफ़ इंजीनियरिंग वाटरलू विश्वविद्यालय
2009 मानद डॉक्टरेट ऑकलैंड विश्वविद्यालय
2009 हूवर मेडल ASME फाउंडेशन, संयुक्त राज्य अमेरिका
2009 अंतर्राष्ट्रीय करमन वॉन विंग्स पुरस्कार कैलिफोर्निया प्रौद्योगिकी संस्थान , संयुक्त राज्य अमेरिका
2008 डॉक्टर ऑफ़ इंजीनियरिंग नानयांग प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय , सिंगापुर
2007 चार्ल्स द्वितीय पदक रॉयल सोसाइटी , ब्रिटेन
2007 साइंस की मानद डाक्टरेट वॉल्वर हैम्प्टन विश्वविद्यालय , ब्रिटेन
2000 रामानुजन पुरस्कार अल्वर्स रिसर्च सैंटर, चेन्नई
1998 वीर सावरकर पुरस्कार भारत सरकार
1997 राष्ट्रीय एकता के लिए इंदिरा गांधी पुरस्कार भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
1997 भारत रत्न भारत सरकार
1994 विशिष्ट फेलो इंस्टिट्यूट ऑफ़ डायरेक्टर्स (भारत)
1990 पद्म विभूषण भारत सरकार
1981 पद्म भूषण भारत सरकार

हम लोग आशा करते है कि आपको ये लेख अच्छा लगा होगा। इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करे। हम लोग इस वेबसाइट पर महानपुरुषो की जीवनी, सरकारी योजना और बच्चो के लिए जनरल नॉलेज, डेली करंट अफेयर्स के प्रश्न उत्तर डालते है।

Read Also: Narendra Modi Biography in Hindi

Facebook Comments

DekhChote

हिंदी जीके, करंट अफेयर्स, ट्रिक्स की लेटेस्ट Updates Emails पर पाने के लिए सब्सक्राइब करे

Follow DekhChote

dekhchote study dekhchote study

dekhchote study

dekhchote study